कोविड, मंकीपॉक्स दुनिया के लिए विकट चुनौती, डब्ल्यूएचओ ने जारी की चेतावनी

0
601
सांकेतिक तस्वीर (हिंदी पोस्ट)
The Hindi Post

जिनेवा | हम अभी पूरी तरह से कोरोना महामारी से उभरे भी नहीं थे कि विश्व पर अब मंकीपॉक्स का खतरा मंडराने लगा है। मंकीपॉक्स अभी तक 15 देशों के 100 लोगों को बीमार कर चुका है। यह बात विश्व स्वस्थ्य संगठन ने कही।

रविवार को जिनेवा में संयुक्त राष्ट्र की विश्व स्वास्थ्य सभा को संबोधित करते हुए, डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक ट्रेडोस एडनॉम गेब्रेयिसस ने कहा कि दुनिया में महामारी अभी खत्म नहीं हुई है। इसने 6 मिलियन लोगों की जान ले ली है।

इसके अतिरिक्त है, मंकीपॉक्स वायरस (Monkeypox Virus) और कई अन्य बीमारियां जैसे बच्चों में हेपेटाइटिस (Hepatitis) और इबोला (Ebola)।

विज्ञापन
विज्ञापन

गेब्रेयसस ने कहा, “कोविड महामारी निश्चित रूप से खत्म नहीं हुई है। हम जलवायु परिवर्तन, असमानता और भू-राजनीतिक प्रतिद्वंद्विता से प्रेरित बीमारी, सूखा, अकाल और युद्ध का सामना कर रहे हैं।”

वैश्विक स्वास्थ्य एजेंसी ने पुष्टि की है कि दुनिया भर में मंकीपॉक्स के 92 पुष्ट मामले हैं और 12 देशों में 28 अन्य संदिग्ध संक्रमण के मामले (मंकीपॉक्स) हैं। इजराइल, स्विट्जरलैंड, ऑस्ट्रिया, बेल्जियम सूची में नए जुड़े हैं।

इसके अलावा, कांगो लोकतांत्रिक गणराज्य में घातक इबोला का प्रकोप देखा गया है, जबकि लगभग 21 देशों ने बच्चों में रहस्यमय तीव्र हेपेटाइटिस की स्थिति के कम से कम 450 मामलों की सूचना दी है।

विज्ञापन
विज्ञापन

लगभग 12 बच्चों की जान चली गई है, और कई को लीवर प्रतिरोपण की आवश्यकता है।

डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने कहा, “70 देशों में मामले बढ़ रहे हैं। दुनिया घर में परीक्षण दर में गिरावट आई है। परीक्षण और अनुक्रमण में गिरावट का मतलब है कि हम वायरस के विकास को बढ़ावा दे रहे हैं।”

उन्होंने कहा कि केवल 57 देशों ने अपनी 70 प्रतिशत आबादी का टीकाकरण किया है, जिनमें से लगभग सभी उच्च आय वाले देश हैं। उन्होंने महामारी से लड़ने के लिए टीकाकरण बढ़ाने, वायरस की जीनोमिक निगरानी करने का आह्वान किया।

 

आईएएनएस

हिंदी पोस्ट अब टेलीग्राम (Telegram) और व्हाट्सप्प (WhatsApp) पर है, क्लिक करके ज्वाइन करे


The Hindi Post