पीएम मोदी को मिले गिफ्ट हासिल करने का शानदार मौका, जानिए क्या करना होगा ?

0
237
सांकेतिक तस्वीर (आईएएनएस)
The Hindi Post

नई दिल्ली | आज यानी 17 सितंबर को भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का 72वां जन्मदिन है. इस मौके को खास बनाने के लिए कई कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है. इन्हीं में से एक खास कार्यक्रम है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भेंट किए गए उपहारों और स्मृति चिन्हों की ई-नीलामी. यानी पीएम मोदी को मिले गिफ्ट हासिल करने का आपके पास भी एक शानदार मौका है. इसके लिए क्या करना होगा..आइए आपको विस्तार से बताते हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भेंट किए गए यादगार स्मृति चिन्ह और उपहार खरीदने के लिए आपको आधार पंजीकरण के जरिए सत्यापन कराना होगा. ई-नीलामी शनिवार से शुरू होगी. संस्कृति मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि उपहारों और स्मृति चिन्हों की नीलामी में पारदर्शिता लाने के लिए आधार प्रमाणीकरण किया गया है. पिछले साल की नीलामी के दौरान आधार प्रमाणीकरण आवश्यक नहीं था.

ऑनलाइन नीलामी में भाग लेने के लिए इच्छुक खरीदारों को पोर्टल करना होगा पंजीकरण 

ऑनलाइन नीलामी में भाग लेने के लिए इच्छुक खरीदारों को इस पोर्टल पर अपना पंजीकरण कराना होगा और पंजीकरण केवल भारतीयों के लिए ही खुला है. खरीदार की प्रामाणिकता की पहचान करने के लिए, नए खरीदारों और जो पहले से ही पोर्टल में पंजीकृत हैं, दोनों के लिए पंजीकरण प्रक्रिया के दौरान आधार प्रमाणीकरण किया जा रहा है. ये आधार प्रमाणीकरण प्रक्रिया एक बार की प्रक्रिया है और केवल प्रमाणित खरीदार ही नीलामी में भाग ले सकते हैं.

खरीदार लाइव नीलामी के लिए सूचीबद्ध उत्पाद का चयन करके नीलामी में भाग ले सकता है. सबसे अधिक बोली लगाने वाले को भुगतान करने के लिए विभाग की तरफ से अनुमोदित किया जाएगा. संस्कृति मंत्रालय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मिले उपहारों की ई-नीलामी के चौथे संस्करण का आयोजन कर रहा है. यह आयोजन 17 सितंबर से 2 अक्टूबर तक हो रहा है.

केंद्रीय संस्कृति मंत्री जी किशन रेड्डी ने शुक्रवार को मीडिया को संबोधित करते हुए कहा, 2019 में इन वस्तुओं की खुली बोली लगाकर लोगों के लिए नीलामी का आयोजन किया गया था. 2021 में भी ई-नीलामी आयोजित की गई थी और हमारे पास नीलामी के लिए 1,348 आइटम थे. इस साल लगभग 1200 स्मृति चिन्ह और उपहार आइटम ई-नीलामी में रखे गए हैं. दिल्ली में गैलरी ऑफ मॉडर्न आर्ट में स्मृति चिन्हों की प्रदर्शन लगाई जाएगी. साथ ही वेबसाइट पर भी इसे देखा जा सकता है.

नीलामी में किन उपहारों को रखा गया है, जानिए यहां

अधिक जानकारी देते हुए, केंद्रीय मंत्री ने कहा, नीलामी में स्मृति चिन्ह में उत्कृष्ट पेंटिंग, मूर्तियां, हस्तशिल्प और लोक कलाकृतियां शामिल हैं. इनमें से कई वस्तुएं पारंपरिक रूप से उपहार के रूप में दी जाती हैं, जैसे की पारंपरिक अंगवस्त्र, शॉल, हेडगियर, औपचारिक तलवारें. इसके अलावा अन्य यादगार वस्तुएं जैसे अयोध्या में श्रीराम मंदिर और वाराणसी में काशी-विश्वनाथ मंदिर की प्रतिकृतियां और मॉडल शामिल हैं.

आईएएनएस

हिंदी पोस्ट अब टेलीग्राम (Telegram) और व्हाट्सप्प (WhatsApp) पर है, क्लिक करके ज्वाइन करे


The Hindi Post