यूक्रेन की सांसद का दावा- रूसी सैनिकों द्वारा 60 साल से अधिक उम्र की महिलाओं के साथ किया जा रहा ‘बलात्कार’

0
176
यूक्रेन में जले हुए रुसी टैंक (फोटो वाया आईएएनएस)
The Hindi Post

लंदन/कीव | यूक्रेन के सांसदों ने दावा किया है कि रूसी सेना उन महिलाओं का बलात्कार कर रही है और उन्हें फांसी पर लटका रही हैं जो उनके बर्बर आक्रमण से बचने में असमर्थ हैं। डेली मेल (Daily Mail) की रिपोर्ट में इसकी जानकारी दी गई है। रिपोर्ट में कहा गया है कि यूक्रेन की विपक्षी होलोस पार्टी (Holos Party) की सांसद लेसिया वासिलेंको (Lesia Vasylenko) ने कहा कि कुछ महिलाएं जिनकी उम्र 60 साल से अधिक थी ने आत्महत्या कर ली।

उन्होंने कहा कि अन्य कमजोर महिलाएं कीव (Kyiv) और उसके उपनगर बुचा (Bucha) और इरपिन (Irpin) में हमलावर सैनिकों से बचने में असमर्थ थीं उन्हें बर्बर यौन हमलों का शिकार होना पड़ा।

सांसद लेसिया वासिलेंको, जिन्होंने साथी सांसदों ओलेना खोमेंको (Olena Khomenko), मारिया मेजेंत्सेवा (Maria Mezentseva) और अलोना शकरम (Alona Shkrum) के साथ हाउस ऑफ कॉमन्स का दौरा किया, उन्होंने पत्रकारों से कहा कि पुतिन ने ‘महिलाओं और बच्चों के सबसे कमजोर समूहों को लक्षित करने के लिए अपनी रणनीति बदल दी है’।

विज्ञापन
विज्ञापन

उन्होंने कहा, द मिरर (The Mirror) के अनुसार, “उनमें से ज्यादातर को बलात्कार के बाद मार डाला गया। मुख्य समस्या यह है कि पीड़ितों और परिवारों के पास आगे आने की ताकत या क्षमता नहीं है।”

मेजेंत्सेवा ने कहा, “जिन महिलाओं के साथ बलात्कार किया गया और यौन हिंसा का सामना किया गया, उनमें से कुछ को फांसी भी दी गई।”

यूक्रेइंस्का प्रावदा (Ukrayinska Pravda) की रिपोर्ट में बताया गया कि यूक्रेन पर रूस के आक्रमण की शुरूआत के बाद से यूक्रेन के संसद आयुक्त के कार्यालय को रूसी सैन्य कर्मियों द्वारा किए गए यौन अपराधों के बारे में शिकायतें प्राप्त हो रही हैं।

विज्ञापन
विज्ञापन

हालांकि स्थानीय मीडिया ने खेरसॉन नाकाबंदी के पहले दिनों में यूक्रेनी महिलाओं की दर्जनों शिकायतों की सूचना दी, फिर भी आधिकारिक यूक्रेनी एजेंसियों में रूसियों द्वारा किए गए ऐसे अपराधों के बारे में कोई शिकायत नहीं है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि हमलावर रुसी सैनिक अपने रिश्तेदारों से की गई बातचीत में बलात्कार की घटनाओं के बारे में डींग मारते हुए सुने गए हैं। यूक्रेन के सैनिकों ने यह बातचीत इंटरसेप्ट की हैं।

रिपोर्ट में कहा गया है कि युद्ध की शुरूआत के बाद से सोशल नेटवर्क पर रूसी बलों द्वारा बलात्कार के बारे में कई खबरें आई हैं।

आईएएनएस

हिंदी पोस्ट अब टेलीग्राम (Telegram) और व्हाट्सप्प (WhatsApp) पर है, क्लिक करके ज्वाइन करे


The Hindi Post