पंजाब: क्यों अंतर्राष्ट्रीय कबड्डी खिलाड़ी संदीप सिंह की करी गई थी नृशंक हत्या? पुलिस ने खोला केस

0
173
The Hindi Post

चंडीगढ़ | अंतर्राष्ट्रीय कबड्डी खिलाड़ी संदीप सिंह की गोली मारकर हत्या किए जाने के एक हफ्ते से भी कम समय में, पंजाब पुलिस ने शनिवार को कनाडा और मलेशिया में बसे चार आरोपियों की गिरफ्तारी और तीन साजिशकर्ताओं का पता लगाने के साथ हाई-प्रोफाइल हत्या के मामले को सुलझाने का दावा किया है। जाने माने कबड्डी खिलाड़ी संदीप सिंह उर्फ संदीप नंगल अंबिया की 14 मार्च को जालंधर जिले के मल्लियां गांव में कबड्डी मैच के दौरान पांच हमलावरों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी।

गिरफ्तार लोगों की पहचान संगरूर के फतेह सिंह, गुरुग्राम के नाहरपुर रूपा के कौशल चौधरी, हरियाणा के महेशपुर पलवन गांव के अमित डागर और उत्तर प्रदेश के माधोपुर पीलीभीत के सिमरनजीत सिंह के रूप में हुई है।

विज्ञापन
विज्ञापन

हत्या और हत्या के प्रयास के 20 से अधिक आपराधिक मामलों का सामना कर रहे सभी चार आरोपी व्यक्तियों को विभिन्न जेलों से पेशी वारंट पर लाया गया था।

पुलिस ने स्नोवर ढिल्लों (Snover Dhillon), सुखविंदर सिंह और जगजीत सिंह को मुख्या षड्यंत्रकारियों के तौर पर नामित किया हैं। स्नोवर वर्तमान में कनाडा के ब्रैम्पटन में रहता हैं और कनाडाई सैथ टीवी और रेडियो शो में निर्माता और निर्देशक है; सुखविंदर सिंह भी कनाडा में रहता है और जगजीत सिंह मलेशिया में रहता है। तीनों ने कथित तौर पर संदीप को मारने की साजिश रची।

पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) वी.के. भवरा ने कहा कि गहन जांच और सूचना के आधार पर जालंधर ग्रामीण पुलिस फतेह सिंह को प्रोडक्शन वारंट पर लेकर आई है।

उन्होंने कहा कि पूछताछ के दौरान, फतेह ने खुलासा किया कि स्नोवर ढिल्लों ने ओंटारियो (Ontario) में राष्ट्रीय कबड्डी महासंघ का गठन किया था और विभिन्न खिलाड़ियों को अपने संघ में शामिल होने के लिए मनाने की कोशिश की थी। हालांकि, अधिकांश प्रसिद्ध खिलाड़ी संदीप द्वारा प्रबंधित ‘मेजर लीग कबड्डी’ से जुड़े थे, जिससे स्नोवर का महासंघ असफल हो गया, फतेह ने खुलासा किया, जबकि उन्होंने स्वीकार किया कि उन्होंने स्नोवर के महासंघ में शामिल होने के लिए कुछ खिलाड़ियों पर दबाव डाला था।

विज्ञापन
विज्ञापन

एसएसपी (जालंधर ग्रामीण) सतिंदर सिंह ने कहा कि फतेह ने कबूल किया कि स्नोवर के निर्देशों का पालन करते हुए, उन्होंने अमित डागर, कौशल चौधरी, जगजीत सिंह, लकी पटियाल और सुखा दुनेके के साथ मिलकर संदीप को मारने के लिए निशानेबाजों की व्यवस्था की थी।

उन्होंने कहा कि सुख दुनेके (Sukh Duneke) के निर्देश पर सिमरनजीत ने अमृतसर में अपने रिश्तेदार स्वर्ण सिंह के घर पर शूटरों को ठिकाना मुहैया कराया था।

पुलिस ने स्वर्ण के घर से 18 कारतूस और 12 बोर की राइफल बरामद की है। नतीजतन, फरार स्वर्ण सिंह को भी मामले में नामजद किया गया है।

एसएसपी ने कहा कि शूटरों की पहचान कर ली गई है और उन्हें जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

आईएएनएस

हिंदी पोस्ट अब टेलीग्राम (Telegram) और व्हाट्सप्प (WhatsApp) पर है, क्लिक करके ज्वाइन करे


The Hindi Post