बीजेपी नेता के बेटे ने की रिसेप्शनिस्ट अंकिता भंडारी की हत्या, शव नहर में फेंका: पुलिस

0
649
अंकिता भंडारी (फाइल फोटो)
The Hindi Post

ऋषिकेश | लक्ष्मणझूला पुलिस ने अंकिता भंडारी हत्याकांड मामले में मुख्य अभियुक्त वनंतरा रिजॉर्ट के मालिक पुलकित सहित 2 अन्य अभियुक्तों को गिरफ्तार कर इस केस को खोल दिया है.

विगत 5 दिनों से अंकिता भंडारी गुमशुदा चल रही थी. अंकिता (19 वर्षीय) इस रिसोर्ट में रेसप्शनिस्ट के तौर पर करती थी. पुलिस के अनुसार, आरोपियों ने खुलासा किया है कि उनके द्वारा अंकिता भंडारी को सुनसान जगह पर ले जाकर शराब पिलाई गई और तत्पश्चात उसकी हत्या कर शव नहर में फेंक दिया गया. पुलिस अब अंकिता का शव खोज रही है.

विज्ञापन
विज्ञापन

बेटी की हत्या की खबर के बाद परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है और वो न्याय की गुहार लगा रहे हैं.

अंकिता भंडारी हत्या मामले में लोगों में आक्रोश है. आक्रोशित ग्रामीणों ने रिजॉर्ट में तोड़फोड़ करते हुए आग लगाने की कोशिश की. ऐसे में मौके पर मौजूद भारी पुलिस बल ने बमुश्किल ग्रामीणों को रोका. ग्रामीणों ने पुलकित आर्य को कोर्ट ले जा रही पुलिस की गाड़ी को रोककर उसमें तोड़फोड़ की. इसके साथ ही आरोपियों को पीटा भी गया.

उल्लेखनीय है कि ग्राम श्रीकोट, पट्टी नादलस्यूं, पौड़ी गढ़वाल निवासी 19 वर्षीय अंकिता भण्डारी की गुमशुदगी के सम्बन्ध में राजस्व पुलिस चौकी उदयपुर तल्ला में 6 दिन पहले मुकदमा पंजीकृत हुआ था. जिलाधिकारी पौड़ी गढ़वाल द्वारा उपरोक्त मुकदमा 22 सितंबर को राजस्व पुलिस से थाना लक्ष्मणझूला पुलिस को स्थानान्तरित किया गया.

आपको बता दें कि पुलकित आर्य बीजेपी के वरिष्ठ नेता विनोद आर्य का बेटा . विनोद आर्य उत्तराखंड सरकार में राज्य मंत्री रह चुके हैं. पुलकित लॉकडाउन के समय में भी विवादों में आया था. वह उत्तर प्रदेश के विवादित नेता अमरमणि त्रिपाठी के साथ उत्तरकाशी में प्रतिबंधित क्षेत्र में पहुंच गया था. अमरमणि त्रिपाठी पर मधुमिता शुक्ला की हत्या का आरोप है. मधुमिता शुक्ला की हत्या के आरोप में अमरमणि त्रिपाठी 14 साल तक जेल में रहा है.

अंकिता के दोस्तों से हुई बातचीत में पता चला है कि रिजॉर्ट के मालिक पुलकित व किसी कर्मचारी द्वारा लड़की को किसी स्पेशल गेस्ट को ‘विशेष सेवा’ ऑफर करने की बात की गई. अंकिता ने ऐसा करने से मना कर दिया था जिसके बाद वो गायब हो गई.

विज्ञापन
विज्ञापन

वनंतरा रिसोर्ट के कर्मचारी के अनुसार 18 सितंबर को शाम छ: बजे के आसपास एक घंटे तक पुलकित अंकिता के रूम में था. अंकिता रो रही थी और हेल्प-हेल्प चिल्ला रही थी. इसके बाद पुलकित, अंकित और सौरभ उसे गाड़ी में बैठा के ऋषिकेश की ओर ले गये और जब वापस आये तो अंकिता उनके साथ नहीं थी.

मामले की गंभीरता को देखते हुए लक्ष्मणझूला पुलिस द्वारा त्वरित कार्रवाई करते हुए 24 घंटे के अन्दर मुख्य अभियुक्त वनंतरा रिजॉर्ट के मालिक पुलकित सहित 02 अन्य अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया गया. श्रीनगर सीओ श्याम दत्त नौटियाल के अनुसार पुलिस ने रिजॉर्ट के मालिक पुलकित आर्य, मैनेजर अंकित सहित तीन लोगों को अरेस्ट कर लिया है.

आईएएनएस


The Hindi Post