बिभव कुमार की गिरफ्तारी पर क्या बोले उनके पिता?

The Hindi Post

रोहतास | आम आदमी पार्टी की राज्यसभा सांसद – स्वाति मालीवाल के साथ हुई कथित मारपीट के मामले में विभव कुमार की गिरफ्तारी के बाद सियासत गरमा गई है. CM अरविंद केजरीवाल के निजी सचिव विभव कुमार के विवाद में आने के बाद रोहतास जिले (बिहार) के कोचस प्रखंड के दिनारा थाने के नरवर पंचायत का खुदरू गांव अचानक चर्चा में आ गया है. ऐसा इसलिए क्योंकि विभव कुमार इसी गांव का निवासी है.

विभव कुमार की गिरफ्तारी की खबर सुनने के बाद उनके पिता महेश्‍वर राय चिंतित हैं. विभव की गिरफ्तारी के बाद गांव में भी लोग तरह-तरह की चर्चा कर रहे हैं.

महेश्‍वर गांव में रहते हैं. वह बीएमपी (बिहार मिलिट्री पुलिस) के सिपाही पद से स्‍वैच्‍छिक अवकाश ले चुके हैं. उन्‍होंने अपने पुत्र को पूरी तरह से निर्दोष बताते हुए कहा कि उनका बेटा पिछले 15 साल से अरविंद केजरीवाल के साथ हैं. उसका आचरण बहुत अच्छा है.

बनारस के काशी हिंदू विश्‍वविद्यालय से पढ़ाई पूरा करने के बाद वह पत्रकारिता की पढ़ाई करने दिल्ली चला गया था. अरविंद केजरीवाल के संपर्क में आने के बाद वह उनके साथ जुड़ गया और जब दिल्ली में AAP की सरकार बनी तो उसे CM केजरीवाल का निजी सचिव बनाया गया.

ग्रामीणों ने बताया कि बिभव पिछले कई सालों से घर नहीं आया हैं. उन्होंने कहा कि उसका आचरण बहुत अच्छा रहा है. उन्होंने कहा कि वह ईमानदार हैं.

बता दे कि स्वाति मालीवाल से कथित मारपीट के मामले में गिरफ्तार किए गए विभव कुमार की अग्रिम जमानत याचिका कोर्ट ने खारिज कर दी है. विभव ने अग्रिम जमानत याचिका की अर्जी तीस हजारी कोर्ट में दायर की थी.

हिंदी पोस्ट वेब डेस्क/आईएएनएस

 


The Hindi Post
error: Content is protected !!