ओटीपी देने में देर करने पर उपजी बहस के बीच, ओला कैब ड्राइवर ने शख्स को पीट-पीट कर मार डाला

0
251
सांकेतिक तस्वीर
The Hindi Post

चेन्नई | कोयंबटूर के एक सॉफ्टवेयर डेवलपर, (जो अपने परिवार के साथ सप्ताहांत की छुट्टी के लिए चेन्नई में थे) को ओला कैब ड्राइवर ने वन-टाइम पासवर्ड (ओटीपी) दर्ज करने में देरी के चलते पीट-पीट कर मार डाला. यह घटना रविवार को चेन्नई की ओल्ड महाबलीपुरम रोड पर हुई.

ग्रेटर चेन्नई के पुलिस आयुक्त, शंकर जीवाल ने आईएएनएस को बताया कि पुलिस ने अब सभी कैब ऑपरेटरों को निर्देश दिया है कि वे यात्रियों को लाने-ले जाने के लिए रखे गए ड्राइवरों की पूरी जानकारी एकत्र करके रखे.

जीवाल ने कैब ऑपरेटरों से ड्राइवर की पृष्ठभूमि की जांच के लिए स्थानीय पुलिस थानों में आधार और ड्राइवरों के अन्य पहचान रिकॉर्ड जमा करने का भी आह्वान किया.

रविवार को एक सॉफ्टवेयर डेवलपर एच. उमेंदर (34) अपनी पत्नी भव्या, दो बच्चों, भव्या की बहन दिव्यप्रिया और उसके दो बच्चों के साथ एक फिल्म देखने के लिए एक मॉल गये थे.

विज्ञापन
विज्ञापन

भव्या ने दोपहर करीब साढ़े तीन बजे ओला कैब बुक की और गाड़ी का रजिस्ट्रेशन नंबर देखकर सभी सात लोग उसमें सवार हो गए.

कैब का ड्राइवर, रवि जो सेलम का रहने वाला है, इस बात से नाराज हो गया कि ग्राहक बिना ओटीपी की पुष्टि किए वाहन में बैठ गये. रवि ने उनसे कार से बाहर निकलने के लिए कहा.

इससे रवि और उमेंद्र के बीच कहासुनी हो गई और गुस्से में आकर रवि ने सॉफ्टवेयर डेवलपर को खूब मारा. ड्राइवर ने बार-बार नाक पर वार करने के अलावा उमेंद्र के माथे पर अपना मोबाइल फोन भी तोड़ दिया.

उमेंद्र को अस्पताल ले जाया गया, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया. रवि ने मौके से भागने की कोशिश की, लेकिन स्थानीय लोगों ने उसे पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया। उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है.

हिंदी पोस्ट वेब डेस्क
(इनपुट्स: आईएएनएस)


The Hindi Post