उदयपुर: दुकान में गला काटकर दर्जी की हत्या करने वाले दोनों आरोपी किए गए गिरफ्तार

0
619
The Hindi Post

उदयपुर | उदयपुर में भीड़-भाड़ वाली सड़क पर स्थित, एक दर्जी की उसके दुकान के अंदर  मंगलवार को दिनदहाड़े हत्या कर दी गई. दर्जी ने सोशल मीडिया पर निलंबित भाजपा प्रवक्ता नूपुर शर्मा का समर्थन किया था. हमलावर ग्राहक बनकर दर्जी की दुकान में घुस आए और अचानक उनपर हमला कर दिया. उन्होंने दर्जी पर खंजर से कई वार किए और उनका गला काट दिया. घटना के एक वीडियो में आरोपियों ने हत्या की जिम्मेदारी ली है. वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है. दोनों आरोपियों ने वीडियो में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी धमकी दी.

पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. दोनों को घटना के कुछ ही देर बाद गिरफ्तार कर लिया गया. उदयपुर के जिला प्रशासन ने शहर में 24 घंटो के लिए इंटरनेट बंद कर दिया है. इसके साथ ही धारा 144 भी लगा दी गई है.

घटना के विरोध में उदयपुर के हाथीपोल, घंटाघर, अश्विनी बाजार, देहली गेट और मालदास स्ट्रीट के दुकानदारों ने अपनी दुकानों के शटर गिरा दिए.

मृतक के परिजनों ने मुआवजे के तौर पर 50 लाख रुपये और सरकारी नौकरी की मांग की है.

Mobile Guru

मृतक की पहचान कन्हैयालाल तेली (40) के रूप में हुई है, जो एक दर्जी थे. वह धनमंडी एरिया में सुप्रीम टेलर्स के नाम से एक दुकान चलाते थे.

मंगलवार दोपहर करीब ढाई बजे दो व्यक्ति कपड़े सिलाने का नाप देने के बहाने उसकी दुकान में घुस गए.

जब तक कन्हैयालाल कुछ समझ पाते तब तक बदमाशों ने उन पर खंजर से हमला कर दिया. उन पर कई वार किये गए जिससे उनकी मौत हो गई.

शीर्ष पुलिस अधिकारी और एफएसएल की टीम मौके पर साक्ष्य जुटा रही है.

इस बीच राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है.

इस भीषण हत्याकांड के बाद राजस्थान विधानसभा में विपक्ष के नेता गुलाबचंद कटारिया ने एसपी को बुलाकर घटना की जानकारी ली.

विज्ञापन
विज्ञापन

कन्हैयालाल गोवर्धन विलास क्षेत्र के रहने वाले थे. दस दिन पहले उन्होंने नूपुर शर्मा के पक्ष में एक सोशल मीडिया पोस्ट डाला था. तभी से एक खास समुदाय के लोग उन्हें जान से मारने की धमकी दे रहे थे.

लगातार धमकियों से परेशान कन्हैयालाल ने इस मामले में पुलिस में शिकायत दर्ज कराने के अलावा छह दिन तक अपनी दुकान भी नहीं खोली थी. पुलिस ने उन्हें कुछ दिन सावधान रहने को कहा था.

इस भीषण घटना की खबर मिलते ही जिला कलेक्टर तारा चंद मीणा और एसपी मनोज चौधरी भी मौके पर पहुंचे.

चौधरी ने कहा कि दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. कन्हैया लाल को मिली धमकियों के बारे में पूछे जाने पर एसपी ने कहा कि मृतक से जुड़े सभी रिकार्ड्स की जांच की जा रही है.

आईएएनएस

 

हिंदी पोस्ट अब टेलीग्राम (Telegram) और व्हाट्सप्प (WhatsApp) पर है, क्लिक करके ज्वाइन करे


The Hindi Post