बांग्लादेशी सांसद की मौत मामले में चौंकाने वाली जानकारी आई सामने, कसाई को दिया गया था मृत सांसद की खाल ….

बांग्लादेशी सांसद मोहम्मद अनवारुल अजीम (फाइल फोटो | क्रेडिट: आईएएनएस)

The Hindi Post

कोलकाता | बांग्लादेशी सांसद अनवारुल अजीम की मौत के मामले में नया डेवलपमेंट सामने आया है. दरअसल, पश्चिम बंगाल पुलिस की टीम कुछ महत्वपूर्ण सुराग हासिल करने के बाद ढाका पहुंच गई है.

सूत्रों ने बताया कि मुंबई में रहने वाले जिहाद हलदार नामक युवक की गिरफ्तारी के बाद जांच अधिकारियों को कुछ महत्वपूर्ण जानकारी मिली है. हलदर पेशे से कसाई है. उसे मुंबई से कोलकाता लाया गया था. हलदर उन लोगों में से एक है जिन्होंने बांग्लादेशी सांसद की हत्या की और फिर शव को ठिकाने लगाया.

जांच अधिकारियों का मानना है कि बांग्लादेश से भारत में अवैध रूप से प्रवेश करने वाले हलदर को बांग्लादेशी सांसद को जान से मारने का ठेका दिया गया था. ठेका देने वालों का बांग्लादेश से कनेक्शन है इसलिए मौत के इस मामले को सुलझाने के लिए बंगाल पुलिस की सीआईडी और बांग्लादेश पुलिस के बीच समन्वय की जरूरत है.

सूत्रों ने आगे बताया कि जांच अधिकारियों को बांग्लादेशी सांसद अनवारुल अजीम की रहस्यमयी मौत के पीछे हनी-ट्रैप के एंगल का पता चला है. अधिकारियों को कुछ खास सुराग मिले हैं.

सूत्रों ने बताया कि पूरे प्रकरण में जो नाम बार-बार सामने आ रहा है वह मृतक सांसद के करीबी दोस्त अख्तरुजमान का है. अख्तरुजमान – बांग्लादेशी मूल का अमेरिकी नागरिक है.

हलदर द्वारा किए गए कबूलनामे के अनुसार, उसका मुख्य काम सांसद के शरीर से खाल निकालना था. यह काम उसे इसलिए दिया गया था क्योंकि वह पेशे से एक कसाई था.

बांग्लादेश में तीन बार सांसदी का चुनाव जीत चुके अजीम 12 मई को अपना इलाज कराने कोलकाता आए थे. वह कोलकाता में अपने दोस्त गोपाल बिस्वास के घर पर रुके थे. इसके बाद 14 मई को वह बिस्वास के घर से यह बोल कर निकले थे कि वह शाम तक वापस आ जाएंगे. पुलिस सूत्रों ने बताया कि वह इसके बाद लापता हो गए. उनका मोबाइल फोन भी स्विच ऑफ हो गया था.

Reported By: IANS, Edited By: Hindi Post Web Desk

 


The Hindi Post
error: Content is protected !!