स्मृति ईरानी को फोन पर नहीं पहचान पाया लेखपाल, दिए गए जांच के आदेश

0
340
The Hindi Post

अमेठी | अमेठी की सांसद और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को फोन पर पहचानने में विफल रहने के बाद अब एक लेखपाल को जांच का सामना करना पड़ेगा। लेखपाल के खिलाफ कर्तव्यों का निर्वहन नहीं करने पर जांच का आदेश दिया गया है।

खबरों के मुताबिक, एक स्थानीय निवासी ने ईरानी को शिकायती पत्र देते हुए कहा था कि उनके पिता की मृत्यु के बाद, जो एक शिक्षक थे, उनकी मां सावित्री देवी पेंशन की हकदार हैं, लेकिन लेखपाल दीपक द्वारा सत्यापन नहीं किया जा रहा है।

शिकायतकर्ता करुणेश ने आगे कहा कि देरी के कारण उसकी मां को पेंशन से वंचित किया जा रहा है। इस पर केंद्रीय मंत्री ने लेखपाल को फोन किया, लेकिन वह उनकी आवाज पहचान नहीं पाया।

 विज्ञापन

विज्ञापन

अमेठी के मुख्य विकास अधिकारी (सीडीओ) अंकुर लथर ने कहा कि यह लेखपाल की ओर से ढिलाई का मामला है और उन्होंने अपने कर्तव्यों का निर्वहन नहीं किया है।

लाथर ने कहा कि अनुमंडल दंडाधिकारी मुसाफिरखाना को मामले की जांच करने को कहा गया है, जिसके बाद कार्रवाई की जाएगी।

लेखपाल मुसाफिरखाना तहसील अंतर्गत गौतमपुर ग्राम सभा में पदस्थापित हैं।

आईएएनएस

हिंदी पोस्ट अब टेलीग्राम (Telegram) और व्हाट्सप्प (WhatsApp) पर है, क्लिक करके ज्वाइन करे


The Hindi Post