चेस मास्टर्स : भारत के प्रज्ञानानंद ने 2022 में दूसरी बार वर्ल्ड नंबर 1 मैग्नस कार्लसन को दी मात

0
142
भारतीय ग्रैंडमास्टर प्रज्ञानानंद रमेशबाबू (फोटो: आईएएनएस)
The Hindi Post

नई दिल्ली | भारतीय ग्रैंडमास्टर प्रज्ञानानंद रमेशबाबू ने 2022 में विश्व चैंपियन मैग्नस कार्लसन पर अपनी दूसरी जीत दर्ज की है। इस बार 16 वर्षीय प्रज्ञानानंद ने शतरंज मास्टर्स ऑनलाइन रैपिड शतरंज टूर्नामेंट में नार्वे के खिलाड़ी मैग्नस को मात दी।

प्रज्ञानानंद ने शुक्रवार को कार्लसन की एक चाल की गलती का सबसे अधिक फायदा उठाया और नाकआउट चरण में आगे बढ़ने के अपने अवसरों को जिंदा रखा।

150,000 डॉलर के इस ऑनलाइन टूर्नामेंट में 5वें दौर का मैच प्रज्ञानानंद की 40वीं चाल के बाद ड्रॉ की ओर बढ़ रहा था, लेकिन कार्लसन की आश्चर्यजनक रूप से एक गलत चाल के कारण भारतीय ग्रैंडमास्टर प्रज्ञानानंद ने उन्हें हराने में सफलता हासिल की।

विज्ञापन
विज्ञापन

प्रज्ञानानंद ने साथी भारतीय पेंटाला हरिकृष्णा के खिलाफ ड्रॉ किया और फिर लीडरबोर्ड पर दूसरे स्थान पर पहुंचने के लिए ब्रिटेन के प्लेयर गवेन जोन्स को हरा दिया।

दुनिया के सबसे कम उम्र के ग्रैंडमास्टर अभिमन्यु मिश्रा भी 16 सदस्यीय टूर्नामेंट का हिस्सा हैं। अभिमन्यु 13 साल के है।

इस साल फरवरी में प्रज्ञानानंद ने एक ऑनलाइन रैपिड शतरंज टूर्नामेंट एयरथिंग्स मास्टर्स के आठवें दौर में दुनिया के नंबर 1 कार्लसन को हराया था।

विज्ञापन
विज्ञापन

शुक्रवार को कार्लसन पर जीत के बावजूद, प्रज्ञानानंद ने खुलासा किया कि वह टूर्नामेंट के दौरान स्कूल की परीक्षा दे रहे थे, लेकिन वह अपने प्रदर्शन से खुश नहीं थे।

भारतीय ग्रैंडमास्टर एएसडी के हवाले से कहा, “मैं अपने प्रदर्शन को लेकर इतना खुश नहीं हूं। मुझे कुछ सामान तरकीबें और कुछ रणनीति बनाने के साथ मुझे और तेज होने की जरूरत है।”

आईएएनएस

हिंदी पोस्ट अब टेलीग्राम (Telegram) और व्हाट्सप्प (WhatsApp) पर है, क्लिक करके ज्वाइन करे


The Hindi Post