अंकिता मर्डर केस: ऋषिकेश की चीला नहर से मिला अंकिता का शव, रिसोर्ट मालिक समेत 3 गिरफ्तार

0
382
अंकिता भंडारी (फाइल फोटो)
The Hindi Post

ऋषिकेश (उत्तराखंड) से लापता रिसेप्शनिस्ट अंकिता भंडारी का शव मिल गया है। उत्तराखंड एसडीआरएफ (SDRF) ने ऋषिकेश की चीला नहर से अंकिता का शव बरामद कर लिया है।

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शनिवार सुबह ट्वीट करके लिखा कि अंकिता का पार्थिव शव बरामद कर लिया गया है। उन्होंने आगे लिखा कि दोषियों को कड़ी सजा दिलाई जाएगी। उन्होंने बताया कि एक SIT का गठन कर दिया गया है जो इस मामले (अंकिता भंडारी मर्डर केस) में जांच करेगी।


यूपी: डेढ़ साल से घर पर शव रख परिवार कर रहा था आयकर अधिकारी का इलाज, पढ़े पूरा मामला


 

उन्होंने लिखा कि, आरोपियों के गैर कानूनी रूप से बने रिजॉर्ट पर बुलडोजर द्वारा कार्रवाई भी कल देर रात की गई।

दरअसल, अंकिता भंडारी (उम्र 19 वर्ष) पिछले पांच दिनों से लापता थी। अंकिता को नहर में धकेल कर हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने इस हत्याकांड के मुख्य अभियुक्त पुलकित आर्य (भाजपा नेता विनोद आर्य का बेटा है) और उसके दो अन्य साथियों को शुक्रवार को ही गिरफ्तार कर लिया था। कोर्ट ने सभी आरोपियों को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।

विज्ञापन
विज्ञापन

अंकिता, पुलकित के रिजॉर्ट में रिसेप्शनिस्ट के तौर पर काम करती थी। यह रिजॉर्ट, पौड़ी गढ़वाल जिले के यमकेश्वर विधानसभा इलाके में बना है। अंकिता बीते 18-19 सितंबर से गायब थी। पुलकित आर्य ही उस रिजॉर्ट का संचालक था, जहां अंकिता काम करती थी। युवती के लापता होने के बाद से रिजॉर्ट संचालक और मैनेजर फरार हो गए थे। पर अब तीनों आरोपी पुलिस की गिरफ्त में है।

अब कार्रवाई करते हुए, रिजॉर्ट पर बुलडोजर चला दिया गया है।

कैसे हुआ पुलकित आर्य गिरफ्तार?

रिजॉर्ट के कर्मचारियों से पूछताछ में पता चला कि 18 सितंबर को शाम करीब आठ बजे अंकिता रिजॉर्ट के मालिक पुलकित आर्य, मैनेजर अंकित और भास्कर के साथ रिजॉर्ट से कही गई थी। इसके बाद करीब साढ़े दस बजे ये तीनों ही रिजॉर्ट वापस लौटे। अंकिता उनके साथ नहीं थी। इस आधार पर पुलिस ने तीनों को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उन्होंने सारे घटनाक्रम को उगल दिया।

उन्होंने पुलिस को बताया कि अंकिता पर वह यहां आने वाले ग्राहकों से संबंध बनाने को कहते थे। यह बात अंकिता सबको बता रही थी। वह बार-बार रिजॉर्ट की हकीकत सामने लाने की धमकी दे रही थी। इस बात को लेकर विवाद चल रहा था। घटना वाले दिन दो अलग-अलग वाहनों पर चारों लोग चीला बैराज के पास गए। वहां पर उन्होंने शराब पी। यहां पुलकित और अंकिता का झगड़ा हुआ।

विज्ञापन
विज्ञापन

इस बीच अंकिता ने पुलकित का मोबाइल फोन छीनकर नहर में फेंक दिया। इससे नाराज पुलकित ने कथित तौर पर अंकिता को नहर में धक्का दे दिया। अंकिता ने दो बार पानी से ऊपर आकर बचाने की आवाज लगाई। मगर, तीनों डर गए और वहां से भाग निकले। तीनों, रिजॉर्ट वापस आ गए। अंकिता डूब गई और उसकी मौत हो गई। अब अंकिता का शव बरामद कर लिया गया है।

हिंदी पोस्ट वेब डेस्क


The Hindi Post