क्या 1 अक्टूबर को भारत में 5जी सेवा शुरू करेंगे पीएम मोदी?

0
96
The Hindi Post

नई दिल्ली | दूरसंचार मंत्रालय के तहत राष्ट्रीय ब्रॉडबैंड मिशन (एनबीएम) ने शनिवार को ट्वीट किया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 1 अक्टूबर को भारत में 5जी सेवाएं शुरू करेंगे. उसी दिन इंडिया मोबाइल कांग्रेस (आईएमसी) भी शुरू हो रही है.

हालांकि, ट्विटर पर एनबीएम के अकाउंट से कुछ ही समय में यह ट्वीट गायब हो गया.

ट्वीट के स्क्रीनशॉट के अनुसार, “भारत के डिजिटल परिवर्तन और कनेक्टिविटी को नई ऊंचाइयों पर ले जाते हुए, माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, इंडिया मोबाइल कांग्रेस (एशिया की सबसे बड़ी प्रौद्योगिकी प्रदर्शनी) में भारत में 5जी सेवाएं शुरू करेंगे.”

5G rol out on Oct 1 (1)

उद्योग के सूत्रों के मुताबिक, हो सकता है कि देश 1 अक्टूबर से 5जी सेवाओं को शुरू करने के लिए तैयार न हो और नई इस तकनीक के आने में कुछ और दिन लग सकते हैं.

लाल किले की प्राचीर से स्वतंत्रता दिवस के अपने संबोधन के दौरान प्रधानमंत्री ने कहा था कि भारत में जल्द ही 5जी सेवाएं शुरू की जाएंगी.

दूरसंचार विभाग (डीओटी) और सेल्युलर ऑपरेटर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (सीओएआई) द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित, इंडिया मोबाइल कांग्रेस (आईएमसी) का छठा संस्करण 1-4 अक्टूबर के बीच प्रगति मैदान, नई दिल्ली में होगा.

विज्ञापन
विज्ञापन

आईटी मंत्री अश्विनी वैष्णव ने पिछले महीने कहा था कि सरकार को उम्मीद है कि 12 अक्टूबर तक देश में 5जी सेवाएं शुरू हो जाएंगी.

वैष्णव ने कहा कि इंस्टॉलेशन का काम चल रहा है दूरसंचार ऑपरेटर 5जी सेवाओं के निर्बाध रोलआउट में व्यस्त है.

मंत्री ने कहा कि सरकार यह सुनिश्चित करेगी कि 5जी योजनाएं जनता के लिए सस्ती रहें.

5जी सेवाओं को चरणबद्ध तरीके से शुरू किया जाएगा और पहले चरण के दौरान 13 शहरों को 5जी इंटरनेट सेवाएं मिलने की संभावना है.

5G network-geff05b9dd_640

यह शहर है – अहमदाबाद, बेंगलुरु, चंडीगढ़, चेन्नई, दिल्ली, गांधीनगर, गुरुग्राम, हैदराबाद, जामनगर, कोलकाता, लखनऊ, मुंबई और पुणे हैं.

3जी और 4जी की तरह, दूरसंचार कंपनियां भी जल्द ही डेडिकेटेड 5जी टैरिफ योजनाओं की घोषणा करेंगी. उद्योग विशेषज्ञों के अनुसार, उपभोक्ता को अपने उपकरणों पर 5जी सेवाओं का उपयोग करने के लिए अधिक भुगतान करना पड़ सकता है.

5जी के लॉन्च के साथ तत्काल टैरिफ युद्ध की संभावना नहीं है, लेकिन यह ‘प्रतिस्पर्धी होगा क्योंकि भारत एक मूल्य-सचेत बाजार बना हुआ है.’

आईएएनएस

हिंदी पोस्ट अब टेलीग्राम (Telegram) और व्हाट्सप्प (WhatsApp) पर है, क्लिक करके ज्वाइन करे


The Hindi Post