गर्भवती हथिनी की मौत मामले में 2 हिरासत में

The Hindi Post

तिरुवनंतपुरम | गर्भवती हाथिनी की मौत की जांच कर रही केरल की वन विभाग की टीम ने दो लोगों को हिरासत में लिया है। वन अधिकारी चुस्ती से इसकी जांच कर रहे हैं। हाथिनी पलक्कड़ जिले के साइलेंट वैली नेशनल पार्क में रहती थी।
स्थानीय मनारकाडु पुलिस स्टेशन ने बुधवार को इस दर्दनाक घटना को लेकर एक मामला दर्ज किया।
पुलिस उप निरीक्षक टी.के. रामचंद्रन ने कहा, “वन विभाग और पुलिस घटना की जांच कर रहे हैं और हम इस अपराध के पीछे के विलेन को खोजने के लिए आश्वस्त हैं।”
बता दें कि कुछ बदमाशों ने 15 वर्षीय गर्भवती हथिनी को अनानास में छिपाकर पटाखे खिला दिए थे। पटाखे फटने पर हथिनी के जबड़े और जीभ गंभीर रूप से जख्मी हुए।
एक स्थानीय ग्रामीण ने कहा, “हथिनी को पानी से निकालने की हमारी पूरी कोशिशों के बावजूद वह बाहर नहीं आई और मर गई।”
अपनी नाराजगी जताते हुए गुरुवार को पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने ट्वीट कर कहा कि इस तरह किसी प्राणी को मारना भारतीय संस्कृति नहीं है।
पर्यावरण मंत्री ने बुधवार को हथिनी की मौत पर रिपोर्ट मांगी और कहा कि दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

आईएएनएस


The Hindi Post

You may have missed

error: Content is protected !!