यूक्रेन में रुसी सैनिकों की बर्बरता: महिलाओं के साथ गैंगरेप, आम-नागरिकों को उतारा गया मौत के घाट

0
202
यूक्रेन में जले हुए रुसी टैंक (फोटो वाया आईएएनएस)
The Hindi Post

कीव | कीव के बाहरी इलाके में सैकड़ों यूक्रेनी नागरिकों की हत्या, अत्याचार और क्रूरता के आरोप झेल रहे रुसी सैनिकों ने राजधानी से आगे गांवों और कस्बों में और भी अधिक अत्याचार किए होंगे। राष्ट्रपति वलोडिमिर जेलेंस्की के एक सलाहकार ने यह चेतावनी दी है।

डेली मेल के मुताबिक, कीव के पश्चिम में बूचा और इरपिन के शहरों में कम से कम 410 निर्दोष नागरिकों की हत्या कर दी गई और यहां जल्दबाजी में खोदी गई सामूहिक कब्र पाए गई हैं।”

कीव में स्थित पत्रकारों ने रूसी सेना के वापस जाने के बाद इस क्षेत्र का दौरा किया और कहा कि यहां युद्ध अपराधों के स्पष्ट सबूत हैं। नागरिकों को उनकी पीठ के पीछे बंधे हाथों से गोली मार दी गई है और अन्य शरीर पर यातना और बलात्कार के निशान हैं।

लेकिन राष्ट्रपति जेलेंस्की के सलाहकार और यूक्रेन के पूर्व वित्त मंत्री, टायमोफी मायलोवानोव का कहना है कि इससे भी बदतर अत्याचार कीव के पूर्व में ब्रोवरी के उपनगर में और राजमार्ग के किनारे के गांवों में किए गए हैं। उन्होंने कहा हमने पत्रकारों और वकीलों से इस क्षेत्र में जाने का आह्वान किया है ताकि जो कुछ हुआ है, उसका दस्तावेजीकरण करने में मदद मिल सके।

मायलोवानोव ने कहा कि शुरूआती चश्मदीद गवाह और सबूत बताते हैं कि बच्चों को जिंदा जला दिया गया होगा, युवा महिलाओं के साथ सामूहिक बलात्कार किया गया और फिर बाद में उन्हें मार दिया गया। और यहां के निवासियों को पहले भूखा रख कर प्रताड़ित किया गया होगा और फिर उनको अपने पालतू जानवर को मार कर खा जाने को कहा गया होगा।

आईएएनएस

हिंदी पोस्ट अब टेलीग्राम (Telegram) और व्हाट्सप्प (WhatsApp) पर है, क्लिक करके ज्वाइन करे


The Hindi Post