मोदी ने कोरोनावायरस को हराने में योग को बताया अहम

फाइल फोटो

The Hindi Post

नई दिल्ली | प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर कोविड-19 महामारी से लड़ने के लिए योग को अहम बताया।

उन्होंने कहा कि घातक वायरस से संक्रमित दुनिया भर में कई लोग योग से लाभान्वित हो रहे हैं। उन्होंने दावा किया कि वे मेडिटेशन के माध्यम से बीमारी से लड़ने में मजबूती हासिल कर रहे हैं।

मोदी ने कहा, “कोरोना महामारी के कारण दुनिया ने योग को अधिक गंभीरता से लेना शुरू कर दिया है। यदि हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत है, तो इस बीमारी को हराना बहुत आसान हो जाता है। योग रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। ऐसे कई आसन हैं जो हमारे शरीर की ताकत को बढ़ा सकते हैं, हमारे मेटाबॉलिज्म को अधिक शक्तिशाली बना सकते हैं।”

प्रधानमंत्री ने कहा कि घातक संक्रमण विशेष रूप से श्वसन प्रणाली पर हमला करता है। लोग प्राणायाम के माध्यम से श्वसन प्रणाली को मजबूत बना सकते हैं।

मोदी ने रविवार को कहा, “प्राणायाम हमारे श्वसन तंत्र को मजबूत बनाने में काफी मदद करता है।”

लोगों को योग करने के लिए प्रेरित करते हुए उन्होंने कहा, “कोई भी योग को अपना सकता है। आपको बस कुछ समय और खाली जगह चाहिए।”

भारत में रविवार की सुबह तक कोविड-19 के कुल 1 लाख 69 हजार से अधिक सक्रिय मामले हैं, जबकि 2 लाख 13 हजार से अधिक ठीक, डिस्चार्ज हो गए हैं। हालांकि, भारत में इससे 12,948 मौतें हो चुकी हैं।

महाराष्ट्र सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य रहा है, जबकि दिल्ली में संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है।

आईएएनएस


The Hindi Post

You may have missed

error: Content is protected !!