भारतीय तटरक्षक बल ने महाराष्ट्र तट के पास डूबते मालवाहक जहाज से 19 को बचाया

0
274
फोटो: आईएएनएस
The Hindi Post

मुंबई | भारतीय तटरक्षक बल ने एक तेज और समन्वित बचाव अभियान के तहत, एक डूबते मालवाहक जहाज के चालक दल के 19 सदस्यों – को बचा लिया है. इस जहाज पर 19 में से 18 भारतीय थे.

गैबॉन-ध्वजांकित पोत – एमटी पार्थ, संयुक्त अरब अमीरात के खोर फक्कन से न्यू मैंगलोर पोर्ट के लिए 3,911 टन डामर बिटुमेन लेकर रहा था.

सुबह लगभग 9.30 बजे, इस पोत के चालक दल ने अरब सागर में बाढ़ की सूचना दी. यह सुचना तब दी गई जब यह पोत रत्नागिरी तट से लगभग 41 मील दूर था. चालक दल ने भारतीय तटरक्षक बल को एक संदेश भेजा.

इस संदेश के मिलते ही मैरीटाइम रेस्क्यू कोऑर्डिनेशन सेंटर हरकत में आ गया और आसपास के दो आईसीजी जहाजों – आईसीजीएस सुजीत और आईसीजीएस अपूर्वा को संकटग्रस्त मालवाहक जहाज की ओर रवाना कर दिया.

आईसीजी ने क्षेत्र के अन्य व्यापारी जहाजों को भी इस घटना बारे में सचेत किया.

जहाज के डूब जाने की आशंका के चलते, चालक दल ने इस जहाज को खाली कर दिया. तभी मौके पर एमवी वादी बनी खालिद (एक अन्य जहाज का नाम) दोपहर करीब 12.30 बजे आईसीजीएस सुजीत और हेलिकॉप्टर के साथ मौके पर पहुंच गया.

फ़िलहाल बचाव अभियान जारी है और संकटग्रस्त पोत के मालिकों को समुद्री प्रदूषण को रोकने के लिए निवारक उपाय करने के लिए कहा गया है और एक आपातकालीन रस्सा पोत मौके पर जा रहा है.

अगर भारतीय तटरक्षक बल की बात की जाए तो इसने अब तक समुद्र में 11,000 से अधिक लोगों की जान बचाई है.

आईएएनएस


The Hindi Post