गुजरात कांग्रेस की बढ़ी मुश्किलें, राज्यसभा चुनाव से पहले 2 और विधायकों का इस्तीफा

The Hindi Post

नई दिल्ली/अहमदाबाद | गुजरात की राज्यसभा सीटों के लिए होने जा रहे चुनाव से पहले कांग्रेस पार्टी को एक तगड़ा झटका लगा है। गुजरात कांग्रेस की मुश्किलें बढ़ाते हुए पार्टी के दो विधायकों ने इस्तीफा दे दिया है। उनके अपने पद से त्यागपत्र देने के बाद कांग्रेस के विधायकों की संख्या विधानसभा में और कम हो गई है। पार्टी के लिए अब राज्यसभा की दूसरी सीट जीतना मुश्किल भरा होगा।

जिन दो विधायकों ने इस्तीफा दिया, वे करजन से अक्षय पटेल और कपराडा सीट से जीतू चौधरी हैं।

गुजरात विधानसभा के अध्यक्ष राजेंद्र त्रिवेदी ने कहा, “दोनों कांग्रेस विधायक कल (बुधवार) शाम त्यागपत्र के साथ मेरे पास आए। मैंने उनका सत्यापन किया। उन्होंने मास्क (कोविड-19 संक्रमण के मद्देनजर) लगाए थे। मैंने उन्हें उसे हटाने के लिए कहा और उनके चेहरों की पहचान करने के बाद फिर उनके इस्तीफे स्वीकार कर लिए। वे अब सदन के सदस्य नहीं हैं।”

कांग्रेस ने दो उम्मीदवारों- शक्ति सिंह गोहिल और भरत सिंह सोलंकी को मैदान में उतारा है। गोहिल को पहली वरीयता का वोट मिलेगा और उनका राज्यसभा के लिए निर्वाचित होना निश्चित है, लेकिन भरत सिंह सोलंकी का भविष्य अधर में लटका है। अब केवल प्रबंधन कौशल ही उन्हें निर्वाचित कर सकता है।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अर्जुन मोडवाडिया ने आईएएनएस से कहा, “भाजपा हमारे विधायकों को लुभाने के लिए पैसे के साथ ही धमकी का इस्तेमाल कर रही है। अक्षय पटेल की खनन में व्यावसायिक हित हैं और इसलिए उन्हें लालच दिया गया है।”

कांग्रेस ने पहले राजीव शुक्ला को नामित किया था लेकिन राज्य इकाई के विरोध के बाद पार्टी ने पूर्व केंद्रीय मंत्री भरत सिंह सोलंकी को मैदान में उतारा है।

पार्टी के एक नेता ने कहा, “कांग्रेस को दोनों सीटों पर जीत के लिए जरूरी 71 वोटों की जरूरत है, लेकिन अब ताजा इस्तीफे के बाद संख्या कम हो गई है, जबकि भाजपा को अपने तीन उम्मीदवारों के लिए 106 वोटों की जरूरत है और वर्तमान में इसकी संख्या विधानसभा में 103 है। भाजपा ने तीसरी सीट जीतने के लिए कांग्रेस को फंसाया है।”

आईएएनएस


The Hindi Post

You may have missed

error: Content is protected !!