‘सांड की आंख’ की प्रोड्यूसर निधि परमार ने 37 की उम्र में करवाये थे अण्डे फ्रीज़, लॉकडाउन के दौरान 100 लीटर ब्रैस्ट मिल्क दान किया

0
307
निधि परमार हीरानंदानी (फोटो: इंस्टाग्राम)
The Hindi Post

फ़िल्म ‘सांड की आंख’ की प्रोड्यूसर निधि परमार हीरानंदानी ने ‘ह्यूमन्स ऑफ बॉम्बे’ को बताया कि उनकी उम्र 35 साल की थी और उनके बच्चे नही थे। अक्सर उनके माता-पिता और अन्य लोग उनसे पूछते थे कि इस बारे में उनकी क्या प्लानिंग है।

उन्होंने ‘ह्यूमन्स ऑफ बॉम्बे’ के फेसबुक पेज पर लिखा कि वह 37 साल की थी जब उन्होंने अपने अंडे फ्रीज करवाये थे। उनके पति ने उनको सुझाव दिया कि वह अपने अंडो को फ्रीज करवा लें ताकि वह अपनी महत्वकांक्षा (कैरियर बना चाहती थी) को पूरा कर सके।

उन्होंने आगे लिखा कि, “मेरे हस्बैंड और मैंने यह भी फैसला कर लिया था कि अगर फ्रोज़न अंडो से बात नही बनी तो हम बच्चा एडॉप्ट (गोद ले लेंगे) कर लेंगे। पर यह बात मेरे परिवार को अच्छी नही लगी।”

उन्होंने आगे लिखा कि जब उनका फ़िल्म प्रोड्यूस (produce) करने का सपना पूरा हो गया तो उनको लगा कि वह अब माँ बनने के लिए पूरी तरह तैयार है। उन्होंने कहा कि इसी समय, वो नैचुरली प्रेग्नेंट हो गई।

निधि ने ‘ह्यूमन्स ऑफ बॉम्बे’ को अपने प्रेगनेंसी के 9 महीनों के अनुभव के बारे में भी बताया।

निधि ने साझा किया कि “मैं 40 साल थी जब मैं माँ बनी… मुझे खुशी है मैंने अपने तरीके से किया। मेरे पास अपने कैरियर और बेटे के लिए बराबर का समय है।…”

उन्होंने यह भी बताया कि वह यह भी कोशिश करती है कि ब्रैस्टफीडिंग (स्तनपान) और डोनेशन (दान) से संबंधित स्टिग्मा (संकोच) दूर करे।

डोनेशन की बात को समझाने के लिए उन्होंने उदहारण देकर समझाया। “लॉकडाउन के समय, (premature babies) ऐसे बच्चे जो समय से पहले जन्म लेते है, उनके लिए मैंने 100 लीटर से ज़्यादा ब्रैस्ट मिल्क दान दिया”, निधि ने ‘ह्यूमन्स ऑफ बॉम्बे’ को बताया।

उन्होंने कहा कि … “मैं एक प्रोड्यूसर और वीर के लिए माँ भी हु”

 

हिंदी पोस्ट वेब डेस्क

हिंदी पोस्ट अब टेलीग्राम (Telegram) और व्हाट्सप्प (WhatsApp) पर है, क्लिक करके ज्वाइन करे


The Hindi Post