लखनऊ में इंस्पेक्टर की सनसनीखेज हत्या मामले का पुलिस ने किया खुलासा, इन दोनों ने रची साजिश

0
471
इंस्पेक्टर सतीश सिंह की फाइल फोटो
The Hindi Post

PAC में तैनात इंस्पेक्टर सतीश कुमार सिंह की हत्या मामले में पुलिस ने दो लोगो को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने केस को वर्कआउट कर लेने का दावा किया है. इस मर्डर केस में मुख्य अभियुक्त है मृतक का साला देवेंद्र वर्मा. वही मृतक की पत्नी भावना को भी गिरफ्तार किया गया है. पुलिस के अनुसार, भावना इस हत्याकांड में सह-अभियुक्त है.

घटना को अंजाम देने कि लिए पत्नी और साले ने मिलकर प्लान तैयार किया था. जिस समय इंस्पेक्टर को गोली मारी गई, उस समय पत्नी भावना और बेटी कार में ही बैठे थे.

पुलिस ने नहर से 32 बोर की पिस्टल भी बरामद की है. इसी पिस्टल से सतीश को साले ने गोली मारी थी.

भावना ने कुछ दिन पहले, अपने पति सतीश के किसी अन्य महिला से अवैध संबंध होने की बात मीडिया को बताई थी. इसके कारन भावना और सतीश सिंह के बीच झगड़ा होता रहता था. भावना को परेशान देखकर भाई देवेंद्र वर्मा ने इंस्पेक्टर की हत्या का प्लान बनाया था.

घटना वाली रात इंस्पेक्टर की लोकेशन को ट्रैक करने के लिए देवेंद्र ने पहले से ही सतीश की कार में जीपीएस ट्रैकर लगा दिया था. इससे वह अपने मोबाइल पर इंस्पेक्टर की गाड़ी का लोकेशन ट्रैक कर रहा था.

देवेंद्र ने पुलिस को गुमराह करने के एक साइकिल खरीदी थी. इसके बाद उसने इसी साइकिल से घटना को अंजाम दिया और फरार हो गया. देवेंद्र ने कृष्णा नगर थाने के मानस नगर स्थित सतीश के घर के बाहर उन्हें गोली मारी थी. इसके बाद उसने साइकिल और कपड़े फेंक दिए थे. अपने मोबाइल फोन को देवेंद्र घर ही छोड़ आया था. ऐसा उसने सर्विलांस से बचने के लिए किया था. उसको लगा कि घर पर फोन छोड़ देने से पुलिस को लगेगा कि वो घर पर ही था और उसका इस हत्याकांड में कही नाम नहीं आएगा. पर उसकी साजिश का पुलिस ने पर्दाफाश कर दिया. पुलिस ने कहा कि देवेंद्र इस हत्याकांड का मुख्य अभियुक्त है.

हिंदी पोस्ट वेब डेस्क

 


The Hindi Post