भीड़ ने थाने पर किया हमला, राज्यपाल से हस्तक्षेप की उठी मांग

0
51
सांकेतिक तस्वीर (आईएएनएस)
The Hindi Post

बेंगलुरु | कर्नाटक भाजपा अध्यक्ष बीवाई विजयेंद्र ने चन्नगिरी में एक शख्स की हिरासत में मौत के बाद पुलिसकर्मियों पर हुए हमले और हिंसा के लिए कांग्रेस पार्टी को जिम्मेदार ठहराया है.

बीवाई विजयेंद्र ने मांग की कि राज्यपाल को तुरंत हस्तक्षेप करना चाहिए और कानून व्यवस्था की स्थिति पर सरकार से रिपोर्ट लेनी चाहिए.

उन्होंने कहा, “मैं थाने पर हमले के मद्देनजर, राज्य में कानून व्यवस्था बहाल करने के लिए राज्यपाल से हस्तक्षेप की मांग करता हूं.”

विघटनकारी ताकतें थानों पर हमला करने और उन्हें जलाने से नहीं हिचकिचाती हैं. इस स्थिति के लिए सीधे तौर पर राज्य की कांग्रेस सरकार जिम्मेदार है. मुस्लिम वोट बैंक का तुष्टीकरण राज्य को अराजकता की तरफ ले जा रहा है.

उन्होंने राज्य सरकार की आलोचना करते हुए कहा, “कर्नाटक में ऐसी स्थिति है कि पुलिसकर्मी सुरक्षित नहीं है.”

“राज्य में ऐसी स्थिति है कि पुलिस बिना पक्षपात के अपना कर्तव्य निभाने में असमर्थ है. राज्य आतंकवादियों के लिए सुरक्षित पनाहगाह बन गया है. माफिया और गुंडों का दबदबा हद पार कर गया है. रेव पार्टियों का आयोजन बिना किसी रोक-टोक के किया जाता है.”

उन्होंने कहा, “पहले डीजे हल्ली में और अब हाल ही में उडुपी में ऐसा हुआ. चन्नागिरी की घटना से पता चलता है कि कट्टरपंथी ताकतें थानों पर हमला करने और उन्हें नुकसान पहुंचने के लिए संगठित हैं.”

दरअसल, शनिवार की सुबह कर्नाटक के चन्नागिरी कस्बे में एक पुलिस स्टेशन पर हमला कर कई वाहनों में आग लगा दी गई थी. उग्र भीड़ ने पुलिस थाने में तोड़फोड़ और आगजनी की थी. लोगों का आरोप है कि पुलिस हिरासत में एक युवक की मौत हो गई थी. इसी कारण वे भड़क गए थे. मृतक का नाम आदिल था.

पुलिस ने बताया कि आदिल की तबीयत खराब हो गई थी जिसके कारण कल रात उसकी मौत हो गई.

Reported By: IANS, Edited By: Hindi Post Web Desk

 


The Hindi Post