एनसीसी (NCC) में बदलाव के लिए सरकार ने बनाई एक उच्चस्तरीय समिति, धोनी को बनाया गया इसका सदस्य

0
215
फाइल फोटो : इंस्टाग्राम
The Hindi Post

नई दिल्ली | भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और महिंद्रा समूह के अध्यक्ष आनंद महिंद्रा को राष्ट्रीय कैडेट कोर (NCC) को और प्रासंगिक बनाने के लिए गठित एक उच्च स्तरीय विशेषज्ञ समिति में शामिल किया गया है। एनसीसी को बदले समय में और अधिक प्रासंगिक बनाने के लिए रक्षा मंत्रालय ने पूर्व सांसद बैजयंत पांडा की अध्यक्षता में एक उच्च स्तरीय विशेषज्ञ समिति का गठन किया है।

धोनी भारतीय सेना से जुड़े रहे हैं और लेफ्टिनेंट कर्नल की रैंक भी रखते हैं।

विज्ञापन
विज्ञापन

मंत्रालय ने कहा, “एक उच्च स्तरीय विशेषज्ञ समिति का गठन किया गया है जो एनसीसी कैडेट्स को राष्ट्र निर्माण और विभिन्न क्षेत्रों में राष्ट्रीय विकास के प्रयासों में अधिक प्रभावी ढंग से योगदान करने के लिए सशक्त बनाने के सुझाव दे।”

समिति के अन्य सदस्यों में वित्त मंत्रालय के प्रधान आर्थिक सलाहकार संजीव सान्याल, जामिया मिलिया इस्लामिया के कुलपति, प्रोफेसर नजमा अख्तर, एसएनडीटी महिला विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति, प्रोफेसर वसुधा कामत, ओलंपिक रजत पदक विजेता कर्नल राज्यवर्धन सिंह राठौर (सेवानिवृत्त) और भाजपा के विनय सहस्रबुद्धे हैं।

विज्ञापन
विज्ञापन

एनसीसी का उद्देश्य युवा नागरिकों के बीच चरित्र, कॉमरेडशिप, अनुशासन, एक धर्मनिरपेक्ष दृष्टिकोण, साहस की भावना और निस्वार्थ सेवा की भावना का विकास करना है।

इसके अलावा, इसका उद्देश्य जीवन के सभी क्षेत्रों में नेतृत्व गुणों के साथ संगठित, प्रशिक्षित और प्रेरित युवाओं का एक पूल बनाना है, जो देश की सेवा करेंगे, चाहे वे किसी भी करियर को चुनें।

2019 में, कुल संख्या 14.2 लाख थी और 16,000 से अधिक शैक्षणिक संस्थानों को एनसीसी के साथ नामांकित किया गया था, जबकि 8,000 से अधिक संस्थान वेटिंग लिस्ट में थे।

आईएएनएस

हिंदी पोस्ट अब टेलीग्राम (Telegram) और व्हाट्सप्प (WhatsApp) पर है, क्लिक करके ज्वाइन करे


The Hindi Post